जिम्मेदारीशुरुआतीबचपनकीशिक्षा(पूर्वप्राथमिक)

बचपनकीशिक्षामेंनिवेश

आंगणवाडी——सोमैयाशिशुविहार

ग्रामीणविकासप्रक्रियामेंबचपनकीशिक्षाएकमहत्त्वपूर्णकदमहै。जैसेछोटेबच्चोंकोयहशिक्षादीजातीहै。उसवक्तबच्चेदेहाती(ग्रामीण)भाषासेज्यादापरिचितहोतेहै。इसीभाषामेंहीउनकोशिक्षाप्रदानकीजातीहै。

०से६सालकेआयुर्वर्गकेविशेषअधिकारप्राप्तबच्चोंकेलिएपोषणमूल्यप्रदानकरनेकेलिएएकमिशनकेसाथहमनेआंगनवाडीपरियोजनाकेसमर्थनकरनेकेलिएराज्यसरकारसेहातमिलायाहै。हमकर्नाटककेबागलकोटऔरबेलगामकेविभिन्नगांवोमेंसोमय्याशिशुविहारनामक२०आंगनवाडीकेंद्रोंकासमर्थनकरतेहै。३से५वर्षआयुकेबच्चोंकेलिएमूल्याधारितशिक्षाकेलिएहमशिक्षकोंकोप्रशिक्षणकेलिएस्वयंसेवकोंकोप्रशिक्षणऔरखिलौनोंप्रदानकरतेहैं。स्वयंसेवकोंकोमानदेयदेतेहै。साथहीसाथयहसूचितकरनेकेलिएनियमितरूपसेकक्षाआयोजितकरतेहै。

इससे२०००सेअधिकबच्चोंकोसालानालाभहोताहै。

सोमैयाशिशुविहार(आंगणवाडीकेंद्र)

“मैंअर्जुनहूं。हमारीआयकामुख्यस्रोतकृषिऔरकृषिमजदूरीहै。मेरेतीनबच्चेहै。एकदुसरीकक्षामेंहैऔरदौपूर्वप्राथमिकमेंपढतेहै。हमाराखेतमेंघरहै。”

मेरेबेटेसोमैयाशिशुविहारमेंपढाईकरतेहैऔरमेरीदोबेटियांउसीकेंद्रमेंपढरहेहै。यहकेंद्रमेरेऔरआसपासकेपरिवारोंकेलिएबहुतउपयोगीहै。क्योंकीहमारेआसपासकेकिसीभीसरकारीपूर्वप्राथमिकविद्याालयनहींहै。सरकारीआंगनवाडीकीदूरीमेरेघरसेकरीब३किमीहै。हमारेबच्चोंकोसरकारीप्राथमिकस्कूलोंमेंभेजनेकेलिएहमारेबहुतमुश्किलहैक्योंकियहहमेंहरदिनछोडनाऔरलानाबहुतमुश्किलहोगाक्योंकिहमेखेतमेंकामकरनापडताहै。हमेंइसकेंद्रसेबडालाभहुआ。समीरवाडीफॅक्टरकेप्रतिहमबहुतखूषहै。

श्री。अर्जुनएम。दड्डीमणि

  • उम्र-३२
  • |
  • व्यवसाय-कृषि
  • |
  • गांव-हंडीगौंड,जिला——बेलगाम(कर्नाटक)
  • |
  • कक्षा-तिसरी

मेरानामनिंगाप्पाहै。मैंखेतीकरताहूं。मेरेचारबच्चेहै。जिनमेंसेदोबच्चेसोमय्यापूर्वप्राथमिकविद्याालयोंमेंअध्ययनकररहेहैंऔरदुसरेदोबच्चे३सालसेकमहै。

सौमय्याविद्याालयहमारेलिएउपयोगीहै。सौमय्याहमारेपासकोईसरकारीप्राथमिकस्कूलनहींहै。हमखुशहैंकीमेरेदोबच्चेअबपढरहेहै。क्योंकिमैंनिरक्षरहूं。

श्री。निंगाप्पाएसब्याकोद

  • उम्र-३०
  • |
  • व्यवसाय-कृषि,
  • |
  • गाव-केसरागोप्पा,जिला——बागलकोट(कर्नाटक)
  • |
  • कक्षा-